NOKRIPUR.COM पर आप सभी का हार्दिक स्वागत है 🙏
Nokripur Telegram Group Join Now
Nokripur Youtube Chennel Subscribe Now

Doodh Ganga Yojana 2023: डेयरी फार्मिंग बिजनेस लोन के लिए करें आवेदन, जाने कैसे पाए (30 लाख रुपये)

Doodh Ganga Yojana 2023: डेयरी फार्मिंग बिजनेस लोन के लिए करें आवेदन, जाने कैसे पाए (30 लाख रुपये). How to apply Doodh Ganga Yojana 2023, Doodh Ganga Yojana 2023 full detail notification : देश में दूध उत्पादन के व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार मिलकर कई तरह की योजनाएं चला रही हैं। ताकि दुग्ध व्यवसाय को बढ़ाया जा सके व लोगों को रोजगार मिल सके. तो आज हम आपको बताने वाले हैं  ऐसी ही एक महत्वपूर्ण पहल जोकि हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा की गई है और उसका नाम है दूध गंगा योजना. यह योजना वर्ष 2010 में शुरू की गई थी, लेकिन राज्य में इस योजना को सुचारू रूप से चलाने के लिए राज्य सरकार ने वित्तीय सहायता प्रदान करने का प्रावधान किया है। Doodh Ganga Yojana 2023 की पूरी जानकारी पाने के लिए हमारे आर्टिकल को पूरा पढ़ें. दुग्ध उद्यमियों के लिए खुशखबरी है: Dhoodh Ganga Yojana 2023 के माध्यम से दुग्ध व्यवसाय क्षेत्र से जुड़े पशुपालकों को ऋण के रूप में 30 लाख रुपये प्रदान किए जाएंगे। आप यहाँ हिमाचल प्रदेश डेयरी फार्मिंग व्यवसाय ऋण के लिए आवेदन करने से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी को पाएंगे.

Doodh Ganga Yojana 2023
Doodh Ganga Yojana 2023

Doodh Ganga Yojana 2023 highlights :-

योजनादूध गंगा योजना 2023
शुरू करने का श्रेयकेंद्र सरकार
विभागपशुपालन विभाग, भारत सरकार
योजना शुरू करने की तिथिवर्ष 2010
लाभार्थीदुग्ध उत्पादन क्षेत्र से जुड़े लोग
उद्देश्यआर्थिक सहायता के रूम में ऋण दिया जाएगा
आर्थिक सहायता के रूप में दी जाने वाली धनराशिलगभग 30 लाख रुपए
दूध गंगा योजना को लागू करने वाला राज्यहिमाचल प्रदेश
ऑफिशियल वेबसाइटhttp://hpagrisnet.gov.in/
वर्ष2023

 

Doodh Ganga Yojana 2023

Doodh Ganga Yojana 2023 : हिमाचल प्रदेश सरकार Doodh Ganga Yojana 2023 के तहत राज्य में दुग्ध उत्पादन क्षेत्र से जुड़े किसानों/पशुपालकों/दुग्ध उद्यमियों को 30 लाख रुपये तक की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। सरकार द्वारा दुग्ध क्षेत्र से जुड़े सभी लोगों को यह राशि निःशुल्क ऋण के रूप में प्रदान की जायेगी. वहीं इस योजना के तहत राज्य सरकार ने प्रदेश में प्रति वर्ष 350 लाख लीटर दूध उत्पादन का लक्ष्य रखा है।

दूध गंगा योजना 2023 का उद्देश्य

Doodh Ganga Yojana 2023 aims : हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई दूध गंगा योजना का मुख्य उद्देश्य डेयरी फार्मिंग से जुड़े सूक्ष्म उद्यमों को राज्य के बड़े और सफल डेयरी उद्यमों में बदलना है.

और Doodh Ganga Yojana 2023 के तहत राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए ही उन्हें बड़े पैमाने पर डेयरी उत्पादों की खुदरा बिक्री और संबंधित गतिविधियों के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इसके साथ राज्य के दुग्ध उत्पादन क्षेत्र से जुड़े लोगों की सुविधा एवं उत्थान के लिए परम्परागत पद्धतियों को उन्नत कर आधुनिक तकनीकों से जोड़ा जायेगा। इस योजना के तहत उच्च नस्ल के दुधारू पशुओं के पालन और संरक्षण के लिए भी लोगों को प्रेरित किया जाएगा।

Doodh Ganga Yojana 2023 के लाभ एवं विशेषताएं

  • Doodh Ganga Yojana 2023 : हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा Doodh Ganga Yojana 2023 की शुरुआत की गई व इसके तहत दुग्ध उत्पादन क्षेत्र का उत्थान किया जाता है।
  • इस योजना की नींव सितंबर 2010 में राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (NABARD) की सहायता से केंद्र सरकार द्वारा डेयरी वेंचर कैपिटल स्कीम के रूप में रखी गई थी।
  • इस योजना के तहत प्रदान किए गए ऋण पर एससी और एसटी उम्मीदवारों को 33% और सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों को 25% की सब्सिडी दी जाती है।
  • प्रारम्भिक चरण में इस योजना के तहत हितग्राहियों को ब्याज मुक्त ऋण प्रदान किया जाता था, जिसमें कुछ समय बाद ब्याज मुक्त ऋण के स्थान पर अनुदान का प्रावधान लागू किया गया।
  • इसके साथ ही इस योजना के अंतर्गत हितग्राहियों को देशी गाय एवं भैंस की खरीद पर 20% तथा जर्सी गाय की खरीद पर 10% की अतिरिक्त सब्सिडी भी राज्य सरकार द्वारा प्रदान की जाती है।
  • राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई इसDoodh Ganga Yojana 2023 के तहत राज्य में दुग्ध उत्पादन क्षेत्रों से जुड़े लोगों को अधिकतम 24 लाख रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाता है, जिसकी मदद से वे अपने दुग्ध उत्पादन व्यवसाय को और अधिक सफल बना सकेंगे.
  • इसके माध्यम से, राज्य सरकार राज्य के सूक्ष्म डेयरी फार्मिंग उद्यमों को संगठित विकसित डेयरी व्यवसाय में परिवर्तित करने का प्रयास करती है।
  • हिमाचल प्रदेश सरकार की इस योजना के तहत पारंपरिक डेयरी फार्मों को स्वच्छ दूध उत्पादन के लिए मशीनों और उपकरणों से लैस कर आधुनिक डेयरी फार्मों में बदला जाएगा।
    इसके अलावा इस योजना के माध्यम से छोटे पशुपालकों को उत्तम नस्ल के दुधारू पशुओं की तैयारी एवं संरक्षण के लिए भी आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई Doodh Ganga Yojana 2023 के तहत एक आधुनिक डेयरी फार्म तैयार किया जाएगा, जिससे स्वरोजगार के अवसर सृजित होंगे।
    इस योजना के माध्यम से राज्य के असंगठित दुग्ध उत्पादन क्षेत्र में मूलभूत सुविधाएं प्रदान कर ग्राम स्तर पर प्रारंभिक उत्पाद तैयार किये जायेंगे।

दूध गंगा योजना पात्रता मानदंड

Doodh Ganga Yojana 2023. दूध गंगा योजना 2022 का लाभ प्राप्त करने के लिए उम्मीदवारों को निर्धारित निम्न पात्रता मानदंड को पूरा करना अनिवार्य है, जो कि इस प्रकार है :-

  • दूध गंगा योजना 2023 के तहत लाभ पाने के लिए आप हिमाचल प्रदेश के स्थायी निवासी हों.
  • इसके साथ ही राज्य सरकार की इस योजना के तहत एक परिवार के एक से अधिक सदस्य भी लाभ के पात्र माने जायेंगे, उनकी स्थापित इकाइयां एक दूसरे से कम से कम 500 मीटर की दूरी पर होनी चाहिए।
  • वहीं आवेदन करने के लिए व्यक्ति/स्वयं सहायता समूह/गैर-सरकारी संगठन/दूध संगठन/दुग्ध सहकारी समिति/कंपनियां आदि पात्र माने जाएंगे।

Doodh Ganga Yojana 2023 हेतु आवेदन प्रक्रिया step by step 

How to apply Doodh Ganga Yojana 2023:
हिमाचल प्रदेश के ऐसे इच्छुक अभ्यर्थी जो Doodh Ganga Yojana 2023 के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन करना चाहते हैं, वे सभी नीचे लिखे के चरणों को अपनाएं:-

  • तो आपको सबसे पहले आपको दूध गंगा योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है। जिससे आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल जाएगा।

Doodh Ganga Yojana 2023

  • और अब वेबसाइट के होमपेज पर आपको “Apply Online के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके सामने एक आवेदन फॉर्म ओपन हो जाएगा।
  • अब आपको इस आवेदन फॉर्म में मांगी गई सभी आवश्यक जानकारियों का विवरण दर्ज करना है. और इसके बाद आपको पूछे गए सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज अपलोड करने हैं.
  • अब लास्ट मे आपको “जमा करें” के विकल्प पर क्लिक करना है और अब आप दूध गंगा योजना 2022 के लिए आवेदन कर लें.

Doodh Ganga Yojana 2023 links :-

Official WebsiteClick Here
Join Our Telegram GroupClick here

दूध गंगा योजना 2023 के माध्यम से डेयरी फार्मिंग बिजनेस करने हेतु उम्मीदवार किसान कितना ऋण प्राप्त कर पाएंगे?

इस योजना के तहत किसान 30 लाख रूपये तक का लोन ले सकते हैं।
है।

दूध गंगा योजना 2023 का मुख्य उद्देश्य क्या है?

इस योजना का मुख्य उद्देश्य हैं राज्य के सभी किसानों को लघु डेरी उद्योगों से बढ़ाकर हिस्सा लेने एवं उनके व्यवसाय को बढ़ाना

Nokripur Telegram Group Join Now
Nokripur Youtube Chennel Subscribe Now

Leave a Comment