WhatsApp Join
Telegram Join

राजस्थान में 22 जनवरी को आधे दिन की सरकारी छुट्टी को लेकर स्कूलों में असमंजस, 2 बजे बाद कैसे बुलाया जाए बच्चों को?

राजस्थान में 22 जनवरी को आधे दिन की सरकारी छुट्टी को लेकर स्कूलों में असमंजस, 2 बजे बाद कैसे बुलाया जाए बच्चों को? – अयोध्या में हो रहे रामलला प्राण प्रतिष्ठा समारोह के तहत 22 जनवरी को प्रदेश में आधे दिन का अवकाश घोषित किया गया है। इस दौरान सभी सरकारी कार्यालयों और शिक्षण संस्थानों में दोपहर 2 बजे तक अवकाश रहेगा। राज्य सरकार की ओर से घोषित आधे दिन के अवकाश को लेकर स्कूल संचालकों में असमंजस की स्थिति बन गई है। सरकारी स्कूलें सुबह 10 बजे से लेकर साम 4 बजे तक खुलती है। शिक्षकों का कहना है कि दोपहर 2 बजे बाद बच्चों को कैसे बुलाएं। पहले प्रार्थना और फिर अटेंडेंस होगी। 4 बजे बाद पोषाहार बनाने का पर्याप्त समय नहीं मिलेगा।

राजस्थान में 22 जनवरी को आधे दिन की सरकारी छुट्टी को लेकर स्कूलों में असमंजस, 2 बजे बाद कैसे बुलाया जाए बच्चों को?
राजस्थान में 22 जनवरी को आधे दिन की सरकारी छुट्टी को लेकर स्कूलों में असमंजस, 2 बजे बाद कैसे बुलाया जाए बच्चों को?

बच्चों को पूरे दिन के अवकाश की मांग

राजस्थान प्राथमिक माध्यमिक शिक्षक संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष विपिन प्रकाश शर्मा का कहना है कि सरकारी स्कूलों में दोपहर 2 बजे तक अवकाश होने से बच्चों को परेशानी होगी। बच्चों की परेशानी को देखते हुए सरकार को पूरे दिन का अवकाश घोषित करना चाहिए। केवल स्टाफ को स्कूल बुलाया जा सकता है। शर्मा ने कहा कि बच्चों को केवल दो घंटे के लिए स्कूल बुलाना उचित नहीं है। दोपहर दो बजे बाद बच्चों के स्कूल आने पर प्रार्थना और अटेंडेंस में आधा घंटा लगेगा। फिर पोषाहार बनाकर वितरण करने और खाने तक छुट्टी का समय हो जाएगा। ऐसे में बच्चों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

Railway BLW Vacancy 2023: रेलवे में निकली 10वीं पास के लिए, लोकोमोटिव वर्क्स के पदों पर बिना परीक्षा सीधी भर्ती

निजी स्कूल संचालक बोले – स्थिति स्पष्ट करे सरकार

22 जनवरी को दोपहर 2 बजे तक के अवकाश को लेकर निजी शिक्षण संस्थान भी असमंजस की स्थिति में हैं। अधिकतर निजी स्कूलें सुबह 9 बजे खुलती है और दोपहर ढाई बजे छुट्टी हो जाती है। ऐसे में निजी स्कूलों संचालक इस परेशानी में हैं कि सिर्फ आधे घंटे के लिए बच्चों को बुलाना कितना उचित रहेगा। स्कूल क्रांति संघ की प्रदेशाध्यक्ष हेमलता शर्मा का कहना है कि आधे दिन का अवकाश समझ से परे है। सरकार को स्पष्ट करना चाहिए कि आधे दिन का अवकाश प्राइवेट स्कूलों पर लागू होगा या नहीं। शर्मा ने कहा कि कई स्कूलों में दोपहर डेढ़ बजे छुट्टी हो जाती है। ऐसे में उन स्कूलों को पूरे दिन का अवकाश देना पड़ेगा।

पहले भी स्कूल बुला सकते हैं बच्चों को

स्कूल शिक्षा विभाग के शासन सचिव नवीन जैन का कहना है कि स्कूलों में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह का लाइव प्रसारण करके बच्चों को दो बजे से पहले बुलाया जा सकता है। समारोह सम्पन्न होने के बाद पढाई कराई जा सकती है। जैन ने कहा कि 22 जनवरी के कार्यक्रमों को लेकर सभी जिला शिक्षा अधिकारियों से वीसी के जरिए कॉन्फ्रेंस की गई है। जहां स्मार्ट क्लास संचालित है, वहां समारोह का लाइव टेलीकास्ट दिखाया जा सकता है।

Leave a Comment